मौत वाली सेल्फी:सेल्फी लेने के चक्कर में हलाली डैम में गिरकर बह गई पत्नी, पति बेबस देखता रहा, 16 घंटे के रेस्क्यू के बाद डैम से दो किलोमीटर दूर मिला शव

भोपाल से विदिशा के हलाली डैम घूमने गए एक दंपति में पत्नी हिमानी की सेल्फी लेते समय फिसल कर 10 फीट नीचे बह रहे पानी में गिर गईं। इसके बाद सोमवार को उनका शव मिला है।
  • रविवार शाम को कोलार निवासी पति-पत्नी घूमने के लिए हलाली डैम का वेस्ट बियर झरना देखने गए थे

भोपाल से पति-पत्नी हलाली डैम घूमने गए थे।
भोपाल से पति-पत्नी हलाली डैम घूमने गए थे।

इसकी सूचना विदिशा के करारिया थाने को लगी तो विदिशा से हलाली डैम पर बचाव दल भेजा गया, 16 घंटे रेस्क्यू चलने के बाद हिमानी शव नदी में मिला। पुलिस जवानों ने महिला के शव को पीएम के लिए जिला अस्पताल पहुंचाया। बताया जा रहा है झरने में शव 2 किलोमीटर बह कर चला गया था।

विदिशा के रेस्क्यू दल ने 16 घंटे की मशक्कत के बाद निकाला शव।
विदिशा के रेस्क्यू दल ने 16 घंटे की मशक्कत के बाद निकाला शव।

जानकारी के मुताबिक, 33 वर्षीय हिमानी मिश्रा अपने परिवार के साथ कोलार भोपाल से विदिशा के हलाली डैम घूमने पहुंची थी। वह अपने पति के साथ कई सेल्फियां ले चुकी थी, हिमानी अपनी आखिरी सेल्फी ले रही थी, तभी उसका पैर फिसल गया, रफ्तार से बह रहे झरने में 10 फीट ऊपर से गिरी हिमानी उस बह गई।

होम गार्ड कमान्डेंड विदिशा एसडी पिल्लई ने बताया कि भोपाल का एक परिवार हलाली डैम घूमने आया था, महिला का सेल्फी लेते हुए पैर फिसला, जिससे वह झरने में बह गई। घटना कल की है। रात भर रेस्क्यू चला। पर अंधेरा होने के कारण महिला का शव नही मिल पाया था। आज जवानों ने रेस्क्यू कर 16 घंटे बाद महिला का शव बरामद किया है।

महिला का शव हलाली डैम से दो किलोमीटर दूर मिला है।
महिला का शव हलाली डैम से दो किलोमीटर दूर मिला है।

सुरक्षा के इंतजाम नहीं, पिछले साल डैम में डूबने से हुई थीं 4 मौत

हलाली डैम के वेस्ट वीयर पर काफी संख्या में लोग घूमने आते हैं, लेकिन यहां सुरक्षा के कोई इंतजाम नहीं है। यहां आने वाले लोग वेस्ट वीयर के निचले हिस्से में पहुंच जाते हैं। इन दिनों वेस्ट वीयर से करीब पौने तीन फीट पानी बह रहा है। इस पानी की गति तेज है। वहीं पहाड़ी हिस्सा होने और लगातार पानी बहने से चट्टानों पर काई जम जाती है। इससे पैर फिसलने की वजह से लोग हादसे का शिकार हो जाते हैं। पिछले साल डैम में डूबने से 4 मौतें हुई थी। हालांकि सलामतपुर पुलिस यहां गश्त करती है, लेकिन पुलिसकर्मी दिन में एक बार ही यहां आते हैं

संवाददाता,अरविंद श्रीवास्तव

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *